Saturday, June 3, 2023
spot_img

अगर बृजभूषण नई संसद के उद्घाटन में भाग लेते हैं, तो देश को संदेश जाएगा: Vinesh

प्रतिरूप फोटो

Google Creative Commons

विनेेश और ओलंपिक पदक विजेता बजरंग पूनिया तथा साक्षी मलिक सहित देश के चोटी के पहलवान 23 अप्रैल से जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हैं। उन्होंने बृजभूषण पर एक नाबालिग सहित सात महिला खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है और वे डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

विनेश फोगाट ने शुक्रवार को कहा कि अगर भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह 28 मई को नए संसद भवन के उद्घाटन समारोह में शामिल होते हैं तो इससे देश में वर्तमान स्थिति को लेकर स्पष्ट संदेश जाएगा।
विनेेश और ओलंपिक पदक विजेता बजरंग पूनिया तथा साक्षी मलिक सहित देश के चोटी के पहलवान 23 अप्रैल से जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हैं। उन्होंने बृजभूषण पर एक नाबालिग सहित सात महिला खिलाड़ियों के यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है और वे डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

अपनी मांग को लेकर प्रदर्शनकारी पहलवानों ने रविवार को नए संसद भवन के सामने महिला महापंचायत के आयोजन का फैसला किया है। इसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे।
विनेश से पूछा गया कि अगर डब्ल्यूएफआई प्रमुख उद्घाटन के दौरान उपस्थित रहते हैं तो क्या संदेश जाएगा, उन्होंने कहा,‘‘ अगर बृजभूषण 28 मई को नई संसद में उपस्थित रहते हैं तो पूरे देश को स्वत: ही संदेश मिल जाएगा।’’
उन्होंने कहा,‘‘जो कोई भी बृजभूषण को बचाने की कोशिश कर रहा है, वह हमारे खिलाफ है। मुझे नहीं पता कि सरकार में अंदर क्या चल रहा है लेकिन कोई उसे बचाने की कोशिश कर रहा है और यह सही नहीं है।वह देश की महिलाओं को नुकसान पहुंचा रहा है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़




Source link

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments