Sunday, June 4, 2023
spot_img

भारत-पाक क्रिकेट मैच के बाद लेस्टर में अशांति की British आयोग करेगा समीक्षा

प्रतिरूप फोटो

Google Creative Commons

ब्रिटेन के सामुदायिक मामलों के मंत्री माइकल गोव ने आवासन और परियोजना विभाग के पूर्व मंत्री और वेस्ट मिडलैंड्स के पूर्व मंत्री लॉर्ड इयान ऑस्टिन की अध्यक्षता में समीक्षा शुरू किए जाने का आदेश दिया है।

ब्रिटिश सरकार ने लेस्टर शहर में पिछले साल अशांति फैलने संबंधी घटना की स्वतंत्र रूप से समीक्षा करने की घोषणा की है जहां दुबई में भारत-पाकिस्तान क्रिकेट मैच के मद्देनजर सामुदायिक समूह आपस में भिड़ गए थे।
ब्रिटेन के सामुदायिक मामलों के मंत्री माइकल गोव ने आवासन और परियोजना विभाग के पूर्व मंत्री और वेस्ट मिडलैंड्स के पूर्व मंत्री लॉर्ड इयान ऑस्टिन की अध्यक्षता में समीक्षा शुरू किए जाने का आदेश दिया है।
उनके विभाग (डीएलयूएचसी) ने कहा कि सितंबर 2022 में सामुदायिक तनाव के कारण लेस्टर में पूजा स्थलों और अन्य संपत्तियों पर ताबड़तोड़ हमले किए गए थे।

उसने कहा कि कुछ मामलों में शहर और उसके बाहर विभिन्न समूहों के बीच विभाजन भी नजर आया।
भारत सरकार ने शहर में झड़पों में एक मंदिर क्षतिग्रस्त हो जाने के कारणउस समय कूटनीतिक रूप से इस मुद्दे को उठाया था। इसके बाद कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था। पिछले साल अगस्त के अंत में दुबई में भारत-पाकिस्तान एशिया कप क्रिकेट मैच के मद्देनजर झड़पें हुई थीं।
गोव ने कहा, “लेस्टर का सामाजिक समरसता का गौरवपूर्ण इतिहास रहा है, जिसके कारण पिछले साल की अव्यवस्था और भी ज्यादा चौंकाने वाली व परेशान करने वाली है।”

उन्होंने कहा, “यह समीक्षा उन विशिष्ट घटनाओं को गहनता से रेखांकित करेगी और यह भी बताएगी कि उनसे क्या सीखा जा सकता है। मैंने लेस्टर में समुदाय के सभी वर्गों की सुरक्षा के महत्व को रेखांकित करने के लिए गृह मंत्री (सुएला ब्रेवरमैन) और लेस्टर के महापौर दोनों से बात की है। हम लोगों या धार्मिक समूहों के बीच विभाजन या हिंसा को बढ़ावा देने के प्रयासों को बर्दाश्त नहीं करेंगे।”
ऑस्टिन विशेषज्ञों की एक स्वतंत्र समिति का नेतृत्व करेंगे, जिसे उचित समय पर नियुक्त किया जाएगा, ताकि अशांति की शुरुआत को समझने पर काम किया जा सके और यह पता लगाया जा सके कि लेस्टर व अन्य जगहों पर भविष्य में इसी तरह की घटनाओं को कैसे रोका जा सकता है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़




Source link

RELATED ARTICLES
- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments